भारतीय संविधान के बारे में,

भारतीय संविधान विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान है, इसके निर्माण के समय इसमे 395 अनुच्छेद 8 अनुसूची तथा 22 भाग थे, परन्तु इस समय इसमें 465 अनुच्छेद 12 अनुसूची और 22 भाग है। भारतीय संविधान का निर्माण में प्रमुख योगदान डां. भीमराव अम्बेटकर का था, ये प्रारूप समिति के अध्यक्ष भी थे। संघ समिति के अध्यक्ष पं. जवाहर लाल नेहरू तथा संचालन समिति के अध्यक्ष डां राजेन्द्र प्रसाद थे। भारतीय संविधान भारत में 26 जनवरी 1950 को पूर्ण रूप से लागू कर दिया गया।


भारतीय संविधान के भाग ,
भारतीय संविधान के 22 भाग है

भाग एक संघ और उसका राज्य क्षेत्र(1 से 4)

भाग दो नागरिकता(5से 11)

भाग तीन मूल अधिकार(अमेरिका)(12 से 35)

भाग चार राज्य के नीत निदेशक तत्व(आयरलैण्ड)(36 सो 51)

भाग चार (क) मूल कर्तव्य (रूस)(51क)

भाग पांच संघ(52 से 151)

भाग छ राज्य(152 से 237)

भाग सात प्रथम अनुसूची के भाग ख में राज्य

भाग आठसंघ राज्य क्षेत्र(239से 242)

भाग नौ पंचायते, नगरपालिकायें,सहकारी समितेिया, (243)

भाग दस अनुसूचित एवं जनजाति क्षेत्र(244)

भाग ग्यारहसंघ एवं राज्यो के बीच में सम्बन्ध(242 से 263)

भाग बारह वित्त सम्पत्ति वाद (264 से 300)

भाग तेरह भारत संघ के अन्दर व्यपार वाणिज्य(301 स् 307)

भाग चौदह संघ एवं राज्यों की आधीन सेवायें, अधिकरण(308 से 323)

भाग पन्द्रह निर्वाचन(324 से 329)

भाग सोलह कुछ वर्गो के लिये विशेष प्रबन्ध(330 से 342)

भाग सत्रह राज्य भाषा(343 से 351)

भाग अट्ठारह आपात उपबन्ध(352 से 360)

भाग उन्नीस प्रकीर्ण(361 से 367)

भाग बीस संविधान संसोधन(368)

भाग इक्कीस विशेष उपबन्ध(369 से 392)

भाग बाइस संक्षिप्त नाम, प्रारम्भ,हिन्दी में प्राधिरिक पाठ(393 से 395)

भारतीय संविधान की अनुसूची

अनुसूची 1 नये राज्यों का निर्माण

अनुसूची2 संवैधानिक पदाधिकारियों के बेतन सम्बन्धी

अनुसूची3संवैधानिक पदाधिकारियों के शपथ सम्बन्धी

अनुसूची4 राज्य सभा की सीटोंं का बटवारा

अनुसूची5अनुसूचित एवं अनुसूचिति जनजातियो का प्रसाशन

अनुसूची6 असम, मेघालय, त्रिपुरा मिजोरम के अनुसूचित क्षेत्रो का प्रशासन

अनुसूची7 विधायी विषयों का बटवारा (संघ सूची 99 से 100)(राज्य सूची 61)
(समवर्ती सूची 52 )

अनुसूची8भाषा सम्बन्धी 1947 मे मात्र 14 भाषायें थी अब कुल 22 भाषा है अंग्रेजी संवैधानिक भाषा नही है।

अनुसूची9 प्रथम संविधान संसोधन भूमि सुधार सम्बन्धी

अनुसूची10दल बदल व्यवस्था पर अंकुश 52वां संसोधन 1985

अनुसूची11पंचायती राजव्यस्था, ग्राम पंचायत(ग्राम प्रधान),क्षेत्र पंचायत(ब्लाक प्रमुख),जिला पंचायत(जिला पंचायत अध्यक्ष)73वां संसोधन बलवंत राय मेहता समिति

अनुसूची12नगर पंचायत, नगर पंचायत,नगर पालिका,नगरनिगम 74वां संसोधन

प्रमुख अनुच्छेद

अनुच्छेद1 भारत राज्यो का संघ होगा

अनुच्छेद3 नये राज्यो का निर्माण

अनुच्छेद17 छुवाछूत का अन्त

अनुच्छेद18उपाधियो का अन्त

अनुच्छेद19 स्वतंत्रता संबन्धी

अनुच्छेद20अपराध के दोष सिध्दि मे संरक्षण

अनुच्छेद21प्राण एवं दैहिक स्वतंत्रता

अनुच्छेद22 कुछ दशावों में गिरफ्तारी पर रोक

अनुच्छेद32 संवैधानिक उपचारो का अधिकार, इसे डा. भीम राव अम्बेडकर ने संविधान की अात्मा कहा है। इसमें सर्वोच्च न्यायालय 5 प्रकार की रिट जारी करता है

अनुच्छेद37 नीति निदेशक तत्व न्याय योग्य नही है

अनुच्छेद40 ग्राम पंचायत का गठन

अनुच्छेद44समान सिवल संहिता

अनुच्छेद51मूल कर्तव्य, पहले मूल कर्तव्य की संख्या 10 थी स्वर्ण सिंह समिति का आधार पर 2002 में 86वां संविधान संसोधन कर 6से 14 वर्ष तक के बच्चो के लिये अनिवार्य शिक्षी जोड़ा गया

अनुच्छेद52भारत का राष्ट्रपति

अनुच्छेद54राष्ट्रपति का निर्वाचन

अनुच्छेद61राष्ट्रपति पर महाभियोग

अनुच्छेद76महान्यन्यायवादी की नियुक्ति

अनुच्छेद79 संसद का गठन(लोक सभा, राज्यसभा,राष्टपति)

अनुच्छेद80 राज्य सभा का गठन(ऊपरी सदन245)

अनुच्छेद81लोकसभा का गठन (निचला सदन 550+2)

अनुच्छेद101 संसद में सदस्यो का रिक्त होना

अनुच्छेद112 वार्षिक वित्तीय विवरण

अनुच्छेद123 अध्यादेश

अनुच्छेद148 कैग की नियुक्ति

अनुच्छेद163 राज्यपाल की नियुक्ति

अनुच्छेद169 विधानपरिषद

अनुच्छेद170 विधान सभा

अनुच्छेद213 राज्यपाल का अध्यादेश

अनुच्छेद214 हाईकोर्ट की स्थापना

अनुच्छेद312 राज्य सभा व्दारा सिविल सेवा का सृजन

अनुच्छेद324 निर्वाचन

अनुच्छेद343 हिन्दी भाषा

अनुच्छेद352 राष्टीय आपात(तीन बार लागू किया गया है)

अनुच्छेद356 राष्ट्रपति शासन

अनुच्छेद360 वित्तीय आपात(अभी तक लागू नही किया गया है)

अनुच्छेद368 संविधान संसोधन

अनुच्छेद370 जम्मू काश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा

भारतीय संविधान के रोचक तथ्य

1. क्या आप जानते हैं भारतीय संविधान पूर्ण रूप से हस्त लिखित है, इसे श्री श्याम बिहारी रायजादा ने लिखा था और इसके हर पन्ने को बहुत खूबसूरती से सजाया गया था। पन्नों की सजावट शांतिनिकेतन के कलाकारों के द्वारा की गयी थी।

2. संविधान की मूल प्रति को आज भी हीलियम के अंदर डाल के भारतीय संसद की लाइब्रेरी में रखा गया है।

3. संविधान के 22 भाग हैं जिनमे 465 अनुच्छेद और 12 अनुसूचियां हैं। भारतीय संविधान विश्व के किसी भी गणतांत्रिक देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है।

4. भारतीय संविधान को तैयार करने में 2 साल 11 महीने 18 दिन का वक़्त लगा था।

5. संविधान को पारित करने से पहले इस पर चर्चा की गयी थी जिसमे 2000 बदलाव किये गए थे।

6. भारत का संविधान 26 नवंबर को तैयार कर लिया गया था मगर तत्कालीन सरकार के द्वारा इसे 26 जनवरी 1950 को लागू करवाया गया था। संविधान पारित होने के बाद सभी 284 संसद सदस्यों से इस पर हस्ताक्षर लिए गए जिनमे 15 महिला सदस्य भी शामिल हैं।

7. भारतीय संविधान को कई संविधानों का मिश्रण कहा जाता है क्योँकि इसमें कई संविधानों के द्वारा मदद ली गयी थी।

8. पंच वर्षीय योजना को रूस के संविधान से लिया गया था और मौलिक अधिकारों को अमेरिका के संविधान से लिया गया था।

9. समानता , एकाधिकार और कई ऐसे अन्य अधिकार फ्रेंच रेवोलुशन से लिए गए थे। यह सारे अधिकार आज के सन्दर्भ में भी अतिमहत्वपूर्ण हैं।

10. संविधान के शुरुआती शब्द अमेरिका के संविधान से प्रेरित हैं जिनका उल्लेख आज भी देखने को मिल जाता है।

11. किसी भी नागरिक के मूलभूत अधिकार भी अमेरिकी संविधान से प्रेरित हैं।

12. भारतीय संविधान की सार्थकता इस बात से सिद्ध हो जाती है की इसको पिछले 62 सालों से इस्तेमाल किया जा रहा है और अभी तक इसमें मात्र 92 बदलाव किये गए हैं।

13. भारतीय सरकार द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कार जैसे कि भारत रत्न, पदम विभूषण, कीति चक्र आदि गणतंत्र दिवस के दिन ही दिए जाते हैं।

14. भारतीय संविधान में ऐसा नियम है कि गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रपति व स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री देश को संबोधित (संबोधन) करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *